8 Views
Published
जौनसार के गौरव वीर केसरी चंद की शहादत की याद

जौनसार। उत्तराखंड के ऐतिहासिक थाती का महत्वपूर्ण क्षेत्र। विशिष्ट सांस्कृतिक वैभव की भूमि। जीवंत और उन्मुक्त जीवन शैली से परिपूर्ण समाज। यहां की लोक-कथाओं और लोक-गाथाओं में बसी है यहां की सौंधी खुशबू। लोक-गीत, नृत्यों और मेले-ठेलों में देख सकते हैं लोक का बिंब। यहीं चकरौता के पास है, रामताल गार्डन (चौलीथात)। यहां प्रतिवर्ष 3 मई को एक मेला लगता है- 'वीर केसरी चंद मेला।' अपने एक अमर सपूत को याद करने के लिये। जौनसारी लोकगीत-नृत्य 'हारूल' के माध्यम से इस अमर सेनानी की शहादत का जिक्र होता है। बहुत सम्मान के साथ। गरिमा के साथ-........
Category
नृत्य
Be the first to comment